Connect with us

उत्तराखंड

*दोस्तों के साथ मिलकर फैलाई थी दहशत, तमंचा और कारतूस बरामद*

उत्तराखंड के कुमाऊं मंडल में चाचा-भतीजा ने दोस्तों के साथ मिलकर जमकर दहशत फैलाई। पुलिस ने आरोपियों के पास से तमंचा और कारतूस भी बरामद किया है। चार आरोपियों को जेल भेज दिया तो तीन नाबालिग आरोपियों को परिजनों के संरक्षण में दिया गया है।

अल्मोड़ा नगर में शनिवार देर रात कुछ युवकों ने जमकर उत्पात मचाया। एक व्यापारी की कनपटी पर तमंचा तानकर उसे बुरी तरह पीट दिया। दो अन्य लोगों की भी जमकर पिटाई की। वहीं एक धार्मिक स्थल पहुंचकर यहां जमकर तोड़फोड़ की। दूसरे दिन रविवार को पीड़ित और एक समुदाय के लोगों ने कोतवाली और एसएसपी कार्यालय पहुंचकर आरोपियों के खिलाफ तहरीर देते हुए उन्हें गिरफ्तार करने की मांग की। पुलिस ने लोगों के आक्रोश को देखते हुए आरोपियों को देर रात गिरफ्तार किया।

पूछताछ में सामने आया कि इस घटना के पीछे चाचा आशु पवार(39) और उसका नाबालिग भतीजा जिम्मेदार है। उन्होंने अपने दोस्तों के साथ मिलकर नगर में दहशत फैलाई। आरोपियों के पास से एक तमंचा और कारतूस भी बरामद हुआ है।आरोपियों से हुई पूछताछ और सीसीटीवी फुटेज के जरिए पुलिस ने घटना के अन्य आरोपी जसपुर, यूएसनगर निवासी शिवम कुमार(19, नगर निवासी तपन साह(44), शिवम कुमार(19), हिमांशु बिष्ट(21) को गिरफ्तार कर जेल भेजा।

घटना में शामिल तीन अन्य नाबालिग आरोपियों को परिजनों के संरक्षण में दिया गया है। पुलिस के मुताबिक आशु पवार ने अपने नाबालिग भजीजे को भी अपराध के दलदल में धकेला है। एसएसपी देवेंद्र पींचा ने कहा कि आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा। मामले में उचित कार्रवाई होगी।

More in उत्तराखंड