Connect with us

उत्तराखंड

*ऑनलाइन ट्रेडिंग का झांसा देकर लोगों को लोगों को बनाते थे शिकार, एसटीएफ ने दबोचा ‌शातिर*

साईबर फ्रॉड मामले में उत्तराखंड एसटीएफ के हाथ बड़ी सफलता लगी है। एसटीएफ कुमाऊँ परिक्षेत्र ने गिरोह के सरगना को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। यह शातिर सोशल मीडिया साइट्स में विज्ञापनों के माध्यम से ऑनलाइन ट्रेडिंग कर अधिक मुनाफे का लालच देकर पीड़ितों से धनराशि जमा कराते थे। एल्टासफंड एप डाउनलोड कराकर पीडितों को उनके डेसबोर्ड में अधिक मुनाफे सहित धनराशि दिखाई जाती थी। अभियुक्त साइबर धोखाधड़ी हेतु दूसरे व्यक्तियों की आईडी से निर्गत कई सिमकार्ड्स व धनराशि बैंक खातों का इस्तेमाल करते थे।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा जानकारी देते हुये बताया कि एक प्रकरण जनपद  नैनीताल निवासी द्वारा18-06-2024 में दर्ज कराया गया। बताया कि विगत दिनों उन्हें एक व्यक्ति द्वारा एक व्हाट्स ग्रुप में जोड़ा गया जिनसमें स्टाक इन्वेस्टमेन्ट में काफी पैसा कमाने का लालच देकर Eltasfund एप्लिकेशन डाउनलोड़ कर इन्वेस्ट करने हेतु बताया गया । इस एप्लिकेश में लगभग 90 लाख रुपये की धनराशी धोखाधड़ी से जमा करायी गयी।

साइबर अपराधियों द्वारा नये जारी होने वाले शेयर में अधिक मुनाफे का लालच दिया गया तथा इसमे निवेश करने पर वादी को कुछ ही दिनों मे 90 लाख रूपये की धनराशि को मुनाफे सहित 2 करोड़ रूपये की धनराशि उनके डेसबोर्ड में प्रर्दशित की गयी ।

मामले की विवेचना के दौरान साईबर पुलिस टीम द्वारा अभियोग में प्रकाश में आये बैंक खातो तथा मोबाइल नम्बरों का सत्यापन कार्यवाही किये जाने पर बैंक खाते व सिम फर्जी आई0डी0 पर संचांलित होने पाये गये। पुलिस टीम द्वारा तकनीकी / डिजिटल साक्ष्य एकत्र करने पर भवतीका हेल्थ केयर प्रा0 लि0 नाम से रजिस्टर्ड फर्म संचालित कर स्थानीय लोगों को इलाज हेतु नर्सिग स्टाफ उपलब्ध कराने की आड़ में ट्रेडिग का धन्धा करने वाले मास्टर मांइड निवासी वार्ड नं0 02 अग्रवाल मण्डी टटीरी देहात थाना व जनपद बागपत उ0प्र0 हाल निवासी खसरा नम्बर 23/6 ए ब्लाक राधा कृष्ण मन्दिर रोड स्वरूपनगर दिल्ली से गिरफ्तार किया गया ।

अभियुक्त द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से ट्रैडिंग बिजनेस का विज्ञापन प्रसारित कर लिंक के माध्यम से वाट्सअप ग्रुप में जोड़ कर ऑनलाईन ट्रेडिंग करने तथा मोबाइल फोन में Eltasfund एप्लिकेशन डाउनलोड़ कर नये शेयर के जारी होने वाले (IPO) में तीन गुना तक का मुनाफा कमाने का झांसा देकर इन्वेस्ट के नाम पर लाखों रुपये की धोखाधड़ी की जा रही थी । अपराधी द्वारा धोखाधडी से प्राप्त धनराशि को विभिन्न बैक खातों में प्राप्त कर उक्त धनराशि को एटीएम के माध्यम से निकासी प्रयोग करते है ।
प्राथमिक विश्लेषण पर गिरफ्तार अभियुक्त द्वारा गिरफ्तार अभियुक्त द्वारा दिल्ली, कर्नाटक, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, गुजरात, केरला, महाराष्ट्र के अतिरिक्त छत्तीसगढ़ आदि राज्यों में कुल 11 ऑनलाईन शिकायतें भी दर्ज होनी पायी गयी।

गिरफ्तारी पुलिस टीम में निरीक्षक अरूण कुमार, उप निरीक्षक दिनेश पन्त,अपर उपनिरीक्षक सत्येन्द्र गंगोला, हेड कांस्टेबल मनोज कुमार, सोनू पाण्डे, कांस्टेबल मो0 उस्मान शामिल थे।

More in उत्तराखंड