Connect with us

उत्तराखंड

*हादसा- इस तरह खाई में गिरी क्रेन, कार के पहाड़ी में अटकने से बच गई चार जिंदगियां*

उत्तराखंड में गुरूवार की सुबह एक बड़ा हादसा टल गया। ऋषिकेश के कोडियाला के पास साकनीधार में खराब हुई कार को लेकर जा रही क्रेन के ब्रेक फेल हो गए। इस हादसे में क्रेन तो गहरी खाई में जा गिरी। जबकि कार पहाड़ी में अटक गई। ‌कार सवार चार लोगों को एसडीआरएफ ने रेस्क्यू किया।

जानकारी के अनुसार पंजाबी यात्रियों की गाड़ी खराब होने पर उन्होंने क्रेन मंगवाई थी। क्रेन ने कार को टो किया, लेकिन कुछ ही दूरी पर जाकर क्रेन के ब्रेक फेल हो गए। जिस कारण क्रेन दो सौ मीटर गहरी खाई में गिर गई। इस दौरान क्रेन से बंधी कार भी गिर कर पहाड़ी पर अटक गई।

दो व्यक्ति कार में और दो क्रेन में सवार थे। सूचना मिलते ही ब्यासी स्थित एसडीआरएफ पोस्ट से सब इंस्पेक्टर नीरज चौहान के नेतृत्व में एसडीआरएफ की एक टीम तुरंत रेस्क्यू के लिए साकनीधार की ओर रवाना हुई। एसडीआरएफ  की टीम ने मौके पर पहुंचकर तुरंत बचाव कार्य शुरू किया।

टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर देखा कि स्विफ्ट कार लगभग 200 मीटर गहरी खाई में गिरी हुई थी और पहाड़ी पर अटकी पड़ी थी, जो कभी भी नीचे गिर सकती थी। एसडीआरएफ की टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सबसे पहले स्विफ्ट में फंसे लोगों को निकालने के लिए रेस्क्यू शुरू किया।

स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर, खाई में स्विफ्ट कार में फंसे दो घायलों को प्राथमिक चिकित्सा दी गई और उन्हें तुरंत देवप्रयाग स्थित नजदीकी अस्पताल भेजा गया। इसके बाद क्रेन का रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया। एसडीआरएफ की टीम ने खाई में उतरकर देखा कि क्रेन में फंसे बाकी बचे दो व्यक्तियों में से एक गंभीर रूप से घायल था, जिसे रोप रेस्क्यू के माध्यम से स्ट्रेचर के साथ ऊपर लाने की प्रक्रिया तुरंत शुरू की गई।

कठिन परिस्थितियों के बावजूद, एसडीआरएफ की टीम ने कुशलता और धैर्य का परिचय देते हुए गंभीर घायल को सड़क तक सुरक्षित पहुंचाया और प्राथमिक चिकित्सा देकर तुरंत अस्पताल भेजा। इससे पूर्व स्थानीय निवासियों एवं पुलिस के द्वारा एक व्यक्ति को पूर्व में ही निकाला जा चुका था l

घायलों का विवरण:
-परविंदर सिंह (20 ) पुत्र किशोर सिंह, निवासी:- मोहाली, पंजाब।
-गुरजीत सिंह ( 31) पुत्र स्व0 गुरवचन सिंह, निवासी:- मोहाली, पंजाब।
-संजय, (31 ) निवासी:-  श्रीनगर, पौड़ी।
-जॉनी पुत्र प्रीतम सिंह (चालक), (31) निवासी:-  श्रीनगर, पौड़ी।

More in उत्तराखंड