Thursday, April 18, 2024

*छात्राओं से अभद्रता मामले में बाल संरक्षण आयोग ने छात्राओं और शिक्षकों से ली जानकारी*

हरिद्वार। बाल शोध विज्ञान मेले में प्रतिभाग के दौरान ऑटो में छात्राओं के साथ अभद्रता मामले का संज्ञान लेते हुए बाल संरक्षण आयोग ने कार्रवाई शुरू कर दी है। इसके लिए आयोग की टीम ने स्कूल पहुंच कर छात्राओं और शिक्षकों से जानकारी जुटाई है।

मामला छात्राओं से जुड़ा होने के कारण जिलाधिकारी ने भी जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। अभी तक यह बात सामने आई है कि प्रभारी प्रधानाध्यापक और छात्रावास के वार्डन स्तर से अभी तक मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को नहीं दी गई थी। छात्र-छात्राओं को स्कूल से बाहर किसी भी कार्यक्रम में ले जाने से पहले शिक्षा विभाग या एसएमसी की अनुमति होना भी जरूरी होता है। बताया जा रहा है कि छात्राओं को विज्ञान मेले में ले जाने की प्रभारी प्रधानाध्यापक के पास न तो विभाग की अनुमति थी और न ही एसएमसी का कोई प्रस्ताव था।

बीते शनिवार को जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने छात्राओं का वायरल वीडियो सामने आने पर मामले को गंभीर बताते हुए मुख्य शिक्षा अधिकारी कमलेश कुमार गुप्ता को जांच के आदेश दिए थे। वहीं, परिजनों ने आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। उनका कहना है कि घर से स्कूल में आने पर सुरक्षा और शिक्षा की जिम्मेदारी स्कूल प्रबंधन की होती है। अगर बच्चों के साथ घटना हुई है तो मामले की शिकायत प्रधानाध्यापक की तरफ से पुलिस और विभागीय अधिकारियों से की जानी चाहिए थी, लेकिन ऐसा करने के बजाय प्रधानाध्यापक मामले को टालने में लगे हुए हैं।

Latest news

Related news

- Advertisement -

You cannot copy content of this page