Monday, April 1, 2024

*नौकरी लगाने के नाम पर धोखाधड़ी करने का आरोपी दस साल बाद चढ़ा पुलिस के हत्थे*

पिथौरागढ़। पुलिस की एसओजी टीम ने दस वर्ष से फरार ईनामी अपराधी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। अभियुक्त ने विदेश में नौकरी लगाने के नाम पर लोगों से लाखों रूपयों की धोखाधड़ी की थी। इस कबूतर बाज पर पिथौरागढ़ पुलिस ने 20 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया था।

पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह ने आज इसका खुलासा किया। पुलिस के मुताबिक 22 सितंबर 2014 को ग्राम देवत, नैनीसैनी निवासी एक व्यक्ति ने कोतवाली पिथौरागढ़ में तहरीर दी थी कि नीरज पाण्डे द्वारा उनको व उनके अन्य साथियों को मालद्वीप में नौकरी लगाने के नाम पर छह लाख रूपयों की धोखाधड़ी की है । तहरीर के आधार पर कोतवाली पिथौरागढ़ में धारा 406/420 आईपीसी के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया ।

अभियुक्त 2014 से ही फरार चल रहा था। 03 सितंबर 2016 को न्यायालय के आदेशानुसार अभियुक्त की सम्पत्ति की कुर्की की गयी थी । फरार अभियुक्त को न्यायालय द्वारा 31 मई 2017 को मफरुर घोषित कर उनकी गिरफ्तारी हेतु स्थाई वारण्ट जारी किया गया था। पुलिस अधीक्षक पिथौरागढ़ लोकेश्वर सिंह द्वारा आरोपी नीरज पाण्डे पर 20 हजार का ईनाम घोषित किया गया था।

पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में पुलिस उपाधीक्षक पिथौरागढ़ परवेज अली के पर्यवेक्षण में एसओजी प्रभारी हेम चन्द्र तिवारी के नेतृत्व में टीम द्वारा सर्विलांस की मदद से गहन सुरागरसी- पतारसी करते हुए अभियुक्त नीरज पाण्डेय पुत्र चन्द्र प्रकाश चन्द्र पाण्डे निवासी बेलकोट पट्टी उपराड़ा पाठक थाना बेरीनाग जिला पिथौरागढ़ उम्र 36 वर्ष को, दानापुर बाजार, जिला पटना बिहार से गिरफ्तार कर लिया गया था।

अभियुक्त अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए लगातार फरार चल रहा था तथा बार-बार अपने ठिकाने बदल रहा था। एसओजी टीम द्वारा लगातार प्रयास कर अभियुक्त को धर दबोचा । अभियुक्त को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जा रहा है। पुलिस टीम में उपनिरीक्षक हेम चन्द्र तिवारी प्रभारी एसओजी, अपर उपनिरीक्षक भुवन चन्द्र पाण्डे- थाना बेरीनाग,हेड कांस्टेबल भुपेन्द्र सिंह एसओजी, कांस्टेबल सत्येन्द्र सुयाल एसओजी, हेड कांस्टेबल हेम चन्द्र सिंह सर्विलांस, कांस्टेबल कमल तुलेरा सर्विलांस शामिल थे।

Latest news

Related news

- Advertisement -

You cannot copy content of this page