Friday, April 19, 2024

*लैपर्ड की खालों की तस्करी कर रहे तस्कर को वन विभाग और पुलिस ने किया गिरफ्तार*

देहरादून। उत्तरकाशी पुलिस ने बड़ी कार्यवाही करते हुए लैपर्ड की दो खाल के साथ एक तस्कर को गिरफ्तार किया है। पुलिस उसकी लंबे समय से निगरानी कर रही थी।

पुलिस कार्यालय उत्तरकाशी में आयोजित पत्रकार वार्ता में सीओ प्रशान्त कुमार ने बताया कि एसओजी की टीम पिछले कई दिनों से इसकी निगरानी कर रही थी, जिसमें कल रात को टीम को तस्कर वरुण (लक्की ) को पकड़ने में कामयाबी हाथ लगी है। लैपर्ड/गुलदार वन्य जीव की दुर्लभ श्रेणी मे एक है, वन्य जीव संरक्षण अधिनियम की अनुसूची 1 मे इसे उच्चतम स्तर की सुरक्षा प्राप्त वन्य जीव प्रजातियों  में रखा गया है। एसओजी उत्तरकाशी ने एक सूचना के आधार पर एक तस्कर को दबोचने के लिए  पुलिस उपाधीक्षक उत्तरकाशी ऑपरेशन प्रशान्त कुमार द्वारा एसओजी प्रभारी प्रकाश राणा, थानाध्यक्ष पुरोला मोहन कठैत एवं वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल व्यूरो दिल्ली की एक संयुक्त टीम गठित की।

टीम द्वारा शुक्रवार की देर रात्रि को थाना पुरोला क्षेत्र से देहरादून- नौगांव राष्ट्रीय राजमार्ग पर जरड़ाखड्ड के पास से वरुण उर्फ लक्की पुत्र बलराम निवासी नाड़ा लाखामण्डल देहरादून, को लैपर्ड की खाल की तस्करी करते हुए गिरफ्तार कर लिया। आरोपी  के जिसके कब्जे से 2 खालें बरामद हुयी हैं। पुलिस द्वारा वन्य जीव की खाल की तस्दीक हेतु वन विभाग की टीम को मौके पर बुलाया गया। गिरफ्तारी व बरामदगी के आधार पर अभियुक्त वरुण के विरुद्ध थाना पुरोला पर वन्य जीव संरक्षण अधिनियम की धारा 9/51 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी के आपराधिक इतिहास की जानकारी जुटाई जा रही है। पुलिस ने आरोपी को आज  न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आरोपी खालों को रिखनाड़ लाखामण्डल के जंगलों से लाकर तराई के एरिया में उच्च दामों पर बेचने के लिये ले जा रहा था, जिसको एसओजी व पुलिस की टीम ने देर रात्रि को दबोच लिया।

Latest news

Related news

- Advertisement -

You cannot copy content of this page