Advertisement
Advertisement
Wednesday, February 21, 2024

तिब्बती समुदाय का तीन दिवसीय लोसर यानी नये साल का शुभारंभ, बौद्ध मठ में होंगे अनेको धार्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम

नैनीताल । तिब्बती समुदाय का नैनीताल में शनिवार से तीन
दिवसीय नव वर्ष लोसर शुरु हो गया है। इस दौरान तिब्बती समुदाय के सभी
व्यवसायिक प्रतिष्ठान भी पूरी तरह से बंद रहे। पहले दिन तिब्बती समुदाय
के लोगों ने अपने घरों में ही रहकर एक दूसरे को नव वर्ष की बधाई देने के
साथ ही परिवार में बड़े लोगों का आर्शीवाद लिया जबकि कुछ लोग सुख निवास
स्थित बौद्ध मठ में गए जहां उन्होंने पूजा अर्चना की।
बता दें तिब्बती कैलेंडर के मुताबिक यह लोसर का 2151वॉ वर्ष है जबकि
प्रतीक ड्रेगन है। तय कार्यक्रम के मुताबिक तिब्बती समुदाय ने लोसर पर्व
मनाने की सभी तैयारियां शनिवार को पूरी कर ली थी। तिब्बती समुदाय के
लोगों ने लोसर पर्व को लेकर गजब का उत्साह नजर आ रहा है। पहले दिन
उन्होंने घरों में ही रहकर एक दूसरे को लोसर की बधाई दी  साथ ही कई
तिब्बती बौध मठ में पूजा अर्चना करने गए। अब लोसर के तहत दूसरे दिन यानी
रविवार (आज)तिब्बती समुदाय के लोग अपने आस के समीपवर्ती स्थलों में जाकर
घूमने जाएंगे वहीं अन्य लोग परिचितों व शुभचिंतकों के वहां जाकर उन्हें
लोसर की मुबारकबाद देंगे।
इसी क्रम में अंतिम दिन यानी सोमवार को तिब्बती समुदाय के लोग सभी सुबह 9
बजे बौध मठ में एकत्र होंगे वहां पर विशेष पूजा अर्चना कार्यक्रम का आगाज
होगा जिसके तहत नैनीताल शहर की खुशहाली के साथ ही विश्व शांति के लिए
प्रार्थना करने के साथ ही वह अपने धर्म गुरु दलाई लामा की दीर्घायु के
लिए प्रार्थना करेंगे। उसके बाद प्रसाद वितरण होगा तत्पश्चात गीत व संगीत
के कार्यक्रमों के साथ ही खेलकूद कार्यक्रम होंगे। लोसर पर्व के मुख्य
आयोजक तथा तिब्बती संघर्ष संगठन के अध्यक्ष सिरिंग तोपगिल के मुताबिक
तिब्बती समुदाय के साथ ही भोटिया माला बाजार से जुड़े लोग भी आयोजन में
प्रतिभाग करेंगे। उन्होंने बताया कि संगठन के महासचिव तेनजिंग
गांधी,एकाउंटेंट तेनजिंग धोनए तथा कैरियर वांउडू समेत सभी तिब्बती समुदाय
के लोगों लोसर पर्व के तहत तीन दिनी कार्यक्रमों को सफल बनाने में जुटे
हैं।

Latest news

Related news

- Advertisement -
Advertisement

You cannot copy content of this page