Thursday, April 18, 2024

*भारतीय संविधान के लोकतांत्रिक मूल्यों पर लगातार किए जा रहे हमले के विरुद्ध एकजुट होने की अपील*

हल्द्वानी। विभिन्न संगठनों द्वारा बुद्ध पार्क हल्द्वानी में संयुक्त रूप से 26 जनवरी 75 वें गणतंत्र दिवस पर संविधान की प्रस्तावना का सामूहिक रूप से पाठ किया गया और संविधान और गणतंत्र पर हो रहे हमलों के खिलाफ संविधान को मजबूत रखने की शपथ ली गई।

इस अवसर पर संयुक्त रूप से संविधान और गणतंत्र के ऊपर धर्म को तरजीह देने और भारतीय संविधान के लोकतांत्रिक मूल्यों पर लगातार किए जा रहे हमले के विरुद्ध एकजुट होने की अपील की। धर्म और राजनीति को आपस में मिलाने और देश के प्रधानमंत्री द्वारा धर्म गुरू की तरह आचरण की निंदा की गई। सभी लोगों ने संविधान की रक्षा करने के लिए भारत के संविधान की प्रस्तावना के अनुरूप धर्मनिरपेक्षता, न्याय , समानता और बंधुत्व पर आधारित ‘हम भारत के लोग’ की अवधारणा को बुलंद किए जाने का सभी लोगों से आह्वान किया गया। मौजूद सभी लोगों ने अगले कार्यक्रम के रूप में 30 जनवरी को महात्मा गांधी के शहीद दिवस पर अंबेडकर पार्क, मंगल पड़ाव में 11 बजे प्रातः एकत्र हो कर बुद्ध पार्क हल्द्वानी तक ‘सदभावना मार्च’ को वृहद रूप से आयोजित करने के लिए पूर्ण रूप से जुटने का फैसला लिया।

संविधान की प्रस्तावना की शपथ लेने वालों में मुख्य रूप से उत्तराखंड सर्वोदय मंडल के अध्यक्ष इस्लाम हुसैन, अखिल भारतीय किसान महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष बहादुर सिंह जंगी, अंबेडकर मिशन के अध्यक्ष जी आर टम्टा, ऐक्टू प्रदेश महामंत्री के के बोरा, भाकपा माले जिला सचिव डा कैलाश पाण्डेय, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शराफत खान, भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष नफीस अहमद खान,  एडवोकेट संजय बघरवाल, वरिष्ठ पत्रकार जगमोहन रौतेला, सुंदर लाल बौद्ध, हरीश लोधी, बी एल आर्य, चेतराम सागर, सामाजिक कार्यकर्ता मुहम्मद अखलाक, सर्वोदय मण्डल नैनीताल के संयोजक बच्ची सिंह बिष्ट, प्रकाश फुलोरिया, यतीश पंत, हरि प्रसाद लोहिया, मनीष गौतम, रूबी भारद्वाज, रीता इस्लाम, प्रदीप कोठारी, चंद्रशेखर भट्ट, अखलाख, जोगेंद्र लाल, मनोज आर्य, जगदीश टम्टा, हरीश सिनोली, किशोरी लाल, अनिल कर्नाटक, सुधांशु बेरी,भवानी, पंकज, हरीश आदि शामिल रहे।

Latest news

Related news

- Advertisement -

You cannot copy content of this page