Advertisement
Advertisement
Saturday, February 24, 2024

*सचिव की बैठक में अनुपस्थित रहे यह अधिकारी, अब होगी कार्रवाई*

नैनीताल। पेयजल सचिव अरविन्द सिंह हृयांकी ने विकास कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। कहा कि कार्यों में गुणवत्ता की कमी मिलने पर सम्बन्धित विभाग के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी। साथ ही उन्होंने अधिकारियों के बैठक से नदारद रहने को भी गंभीरता से लिया और वन विभागाधिकारी, क्रीड़ा अधिकारी, उरेडा अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश दिये।

जिला योजना के अवशेष विकास कार्यों को पूर्ण करने के साथ ही जिला योजना की धनराशि को शत-प्रतिशत समयावधि में व्यय करना सुनिश्चित करें। पेयजल सचिव अरविंद सिंह ह्यांकी ने नैनीताल क्लब में जिला योजना, राज्य सेक्टर, केंद्र पोषित, वाह्य सहायतित विकास योजनाओं की प्रगति और जिला योजना में आवंटित बजट को शत-प्रतिशत खर्च करने के संबंध में अधिकारियों की बैठक ली। कहा कि जिला नियोजन समिति ने जब ससमय आपकी स्कीम को स्वीकृति प्रदान कर धनराशि अवमुक्त कर दी है। बावजूद इसके प्राप्त धनराशि को वित्तीय वर्ष में खर्च नहीं किया जा रहा है, यह क्षम्य नहीं है। सचिव ने पीडब्ल्यूडी और पेयजल निगम द्वारा किए जा रहे विकास कार्यों के खराब प्रदर्शन पर नाराजगी जताई और अनुशासनात्मक कार्रवाई अमल में लाने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिए। कहा कि यह बेहद अपमान जनक है कि शासन से सचिवों को जिला योजना की समीक्षा के लिए आना पड़ता है।

उन्होंने कहा कि जिला योजना का पैसा आते ही एक सप्ताह के भीतर विभागों को आवंटित कर दिया जाए। समस्त विभागीय अधिकारियों को अपनी जिम्मेदारी के परिप्रेक्ष्य में जिला योजना से प्राप्त बजट को चालू वित्तीय वर्ष में ही शत-प्रतिशत खर्च कर दिया जाए और साथ ही उच्च गुणवत्ता युक्त विकास कार्यों का निर्माण किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विभाग जिला योजना की धनराशि को शतप्रतिशत व्यय करना सुनिश्चित करें। सचिव ने जिन विभागों द्वारा शत-प्रतिशत जिला योजना खर्च कर ली गई है उनको बधाई दी और जो विभाग अभी तक अपनी जिला योजना खर्च नहीं कर पाए हैं उन्हें शीघ्र जिला योजना खर्च करने के निर्देश दिए। बैठक में सचिव ने कहा कि जिला योजना के रूप में जिला स्तरीय विकास कार्यों के लिए जिला योजना सुनहरा अवसर है जिसके बिहाप पर आप अपनी इच्छानुसार कार्य करते हैं लेकिन फिर भी आप जिला योजना को खर्च नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने समस्त विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि समय से ही कार्यदायी संस्था का चयन कर स्वीकृत कार्यों को कराने का कार्य किया जाए। बैठक में जिलाधिकारी वंदना सिंह ने सभी विभागीय अधिकारियों को तत्परता के साथ लंबित कार्यों को पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी अशोक कुमार पाण्डे, मुख्य कृषि अधिकारी डॉ वीके यादव, अर्थ एवम संख्या अधिकारी डॉ मुकेश सिंह नेगी, मुख्य शिक्षा अधिकारी जगमोहन सोनी, आरटीओ संदीप सैनी, ईई पीडब्ल्यूडी, ईई जल निगम, ईई जल संस्थान, प्रभारी मुख्य चिकत्सा अधिकारी, जिला खाद्य पूर्ति अधिकारी सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Latest news

Related news

- Advertisement -
Advertisement

You cannot copy content of this page