Advertisement
Advertisement
Monday, February 19, 2024

*वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में आयुक्त को मिली अनियमित्ताएं, कंपनी पर जुर्माना लगाने के दिए निर्देश*

बाजपुर। मंडलायुक्त दीपक रावत ने शुक्रवार को नमामि गंगे योजनांतर्गत बन रहे 10 एमएलडी वाटर ट्रीटमेंट प्लांट(एसटीपी) का निरीक्षण किया। मंडलायुक्त ने निरीक्षण के दौरान कई खामियां पाए जाने पर सख्त नाराजगी जाहिर करते हुए कंपनी पर जुर्माना लगाने के दिए निर्देश अधीक्षण अभियंता मृदुला सिंह को दिए।

उन्होंने गुणवत्ता परीक्षण हेतु पानी में रखे गए कंक्रीट निर्मित क्यूब मिट्टी में दबे होने पर की सख्त नाराजगी व्यक्त की। मंडलायुक्त ने अपने सामने ही जेसीबी से मिट्टी हटवाकर क्यूब को देखा क्यूब्स के परीक्षण आदि के बारे में विस्तार से रजिस्टर से मिलान किया।मंडलायुक्त ने पानी से अलग रखे हुए क्यूब्स की अपने सामने गुणवत्ता परीक्षण कराया जिसमें सभी चिन्हित क्यूब (2 क्यूब ) गुणवत्ता परीक्षण में फेल हो गए। मंडलायुक्त ने पानी में रखे गए सभी क्यूब का जीबी पंत कृषि एवम प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से कराने के दिए निर्देश दिए। उन्होंने कम्पनी के इंजीनियरों द्वारा सही प्रकार से व साइंटिफिक जवाब न देने पर कम्पनी के इंजीनियरों की डिग्री एवम डिप्लोमा की भी जांच कराने के दिए निर्देश। उन्होंने सभी प्रोजेक्ट्स पर कार्य कर रहे कंपनी के इंजीनियरों की डिग्री तथा डिप्लोमा की छाया प्रतियां निर्माणाधीन साइड्स पर रखवाने के भी निर्देश दिए।

मंडलायुक्त ने स्पष्ट निर्देश दिए की गुणवत्ता के साथ किसी भी दशा में समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने निर्माण कार्य पर पैनी नज़र बनाए रखने तथा समय–समय पर निर्माणाधीन साइड्स का निरीक्षण करने के निर्देश जल निगम के अभियंताओं को दिए। उन्होंने निरीक्षण के दौरान गुणवत्ता परीक्षण से संबंधित रजिस्टर, अन्य लैब्स से प्राप्त रिपोर्ट्स का भी गहनता से अवलोकन किया। उन्होंने अनटेस्टेड क्यूब्स, रिसीविंग तथा मेकेनिकल चैंबर, घोघा नाले आदि का गहनता से निरीक्षण करते हुए महत्वपूर्ण दिशा–निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। मंडलायुक्त ने दभोरा मुस्तकाम पेयजल योजना का भी निरीक्षण किया। मंडलायुक्त ने दभौरा में घर–घर पहुंचकर पेयजल कनेक्शन की जांच करते हुए 20 दिन के भीतर योजनान्तर्गत हर घर जल मुहैया कराने के निर्देश दिए।

इस दौरान मंडलायुक्त ने ग्रामवासियों से भी मुलाकात करते हुए कार्यों के बारे में विस्तार से चर्चा की। मंडलायुक्त ने मुकुंदपुर एसटीपी प्लांट का भी निरीक्षण किया और महत्वपूर्ण दिशा–निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। निरीक्षण के दौरान अधीक्षण अभियंता मृदुला सिंह, संयुक्त निदेशक अर्थ एवम संख्या राजेंद्र तिवारी, अधिशासी अभियंता ज्योति पालनी, जिला सूचना अधिकारी अहमद नदीम, कंपनी के साइड मेनेजर मनीष, जूनियर इंजीनियर वसीम खान आदि उपस्थित थे।

Latest news

Related news

- Advertisement -
Advertisement

You cannot copy content of this page