Advertisement
Advertisement
Friday, February 23, 2024

*ज्वैलरी शोरूम डकैती मामले में पुलिस के हाथ बड़ी सफलता, दो लाख ईनामी का मुख्य आरोपी गिरफ्तार*

देहरादून। दून पुलिस तथा बिहार पुलिस बेहतर कार्डिनेशन से रिलांयस लूट प्रकरण में शामिल 02 लाख का इनामी मुख्य अभियुक्त प्रिंस कुमार वैशाली बिहार से गिरफ्तार किया गया। एसएसपी देहरादून द्वारा लगातार पूरे मामले की स्वयं मॉनिटरिंग की जा रही थी।

अभियुक्त अभिषेक की गिरफ्तारी के दौरान वैशाली में स्वयं एसएसपी देहरादून मौजूद थे। अपनी टीम को लगातार वैशाली में निर्देशित करते हुए एसएसपी वैशाली व बिहार पुलिस के अन्य उच्च अधिकारियों से मीटिंग कर लगातार अपडेट करते हुए स्वयं अभियुक्तों की ठिकानों व संभावित जगहों की जानकारी सांझा की जा रही थी। दून पुलिस द्वारा अभियुक्त पर 02 लाख का ईनाम घोषित कर पश्चिम बंगाल तथा बिहार में लगातार उनके ठिकानों पर दबिश देते हुए दबाव बनाया जा रहा था। पूर्व में घटना में शामिल अभियुक्त प्रिंस के अन्य साथियों विक्रम व अभिषेक को दून पुलिस द्वारा गिरफ्तार करते हुए अभियुक्त पर चौतरफा दबाव बनाया गया।

रिलायंस ज्वैलरी लूट प्रकरण में घटना मे शामिल मुख्य अभियुक्त प्रिंस तथा अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु एसएसपी देहरादून द्वारा स्वंय बिहार जाकर एडीजी एसटीएफ बिहार तथा एसएसपी वैशाली के साथ बैठक कर समन्वय स्थापित किया गया था, तथा इनवेस्टिगेशन के दौरान उक्त गैंग तथा अभियुक्तों के सम्बन्ध में मिल रही महत्वपूर्ण जानकारियों को लगातार बिहार एसटीएफ तथा बिहार पुलिस के साथ साझा किया जा रहा था। अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु दून पुलिस द्वारा अभियुक्तों पर 02-02 लाख का ईनाम घोषित किया गया था, साथ ही दून पुलिस की टीमो द्वारा बिहार तथा पश्चिम बंगाल में अभियुक्तों के छिपने के सम्भावित ठिकानों पर दबिशे देते हुए अभियुक्तों पर लगातार दबाव बनाया जा रहा था। दून पुलिस व बिहार पुलिस के बेहतर आपसी सामंजस्य तथा सूचनाओं के आदान-प्रदान से आज बिहार पुलिस द्वारा देहरादून में हुई लूट की घटना में शामिल मुख्य अभियुक्त प्रिंस को वैशाली बिहार से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गयी है। देहरादून पुलिस की टीम द्वारा अभियुक्त से घटना की विस्तृत पूछताछ कर अभियुक्त को न्यायालय के समक्ष पेश कर ट्रांजिट रिमाण्ड पर देहरादून लाया जायेगा।

Latest news

Related news

- Advertisement -
Advertisement

You cannot copy content of this page