Advertisement
Advertisement
Wednesday, February 21, 2024

*उत्तराखंड ग्लोबल इन्वेस्टर समिट- नैनीताल के लिए 4312.90 करोड़ और ऊधम सिंह नगर के लिए 23163.77 करोड़ के एमओयू*

रूद्रपुर। उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर समिट-2023 के अन्तर्गत रूद्रपुर में कुल 434 यूनिटों का 27476.67 करोड़ रूपये के एमओयू हुए। इसमें जनपद नैनीताल की 139 ईकाइयों के 4312.90 करोड़ के तथा जनपद ऊधम सिंह नगर के 295 इकाईयों क 23163.77 करोड़ के एमओयू हुए।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सभी का हार्दिक स्वागत एवम् अभिनन्दन किया। उन्होंने कहा कि लन्दन, दुबई, अबू धाबी, चेन्नई, बेंगलोर, अहमदाबाद, मुंबई के बाद अपने गृहक्षेत्र रुद्रपुर में आप सभी के मध्य राज्य में निवेश की अपार संभावनाओं को लेकर सम्मेलन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार हमें विदेशी जमीन पर निवेशकों का सहयोग और सर्मथन मिला, उसी तरह आप सभी का भी सहयोग और समर्थन हमें मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारे सभी उद्यमि राज्य के ब्राण्ड एम्बेस्डर हैं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में निवेश बढ़ेगा तो रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे, अवसर बढ़ेंगे तो उत्तराखंड से बेरोजगारी भी कम होगी। उन्होंने कहा कि सरलीकरण, समाधान, निस्तारिकरण और संतुष्टि के मूल सिद्धांत को अपनाकर राज्य में ईज ऑफ डूंड्रग बिजनेस के क्षेत्र में अभूतपूर्व प्रगति की है। राज्य में लाइसेंस आदि के अनुमोदनों के लिए ’’सिंगल विंडो सिस्टम’’ की व्यवस्था में सुधार किया गया है तथा व्यवसाय की स्थापना और संचालन के लिये आवश्यक सभी स्वीकृतियों के लिए व्यवस्था प्रारम्भ की गई है। उन्होंने कहा कि हरिद्वार तथा ऊधम सिंह नगर जनपद में 6000 एकड़ लैण्ड बैंक उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों में एमओयू साइन हो जाते थे, परन्तु कार्य आगे नहीं बढ़ पाता था। उन्होंने कहा कि हम वास्तव में काम करना चाहते हैं और निवेशकों को राज्य में क्या-क्या और किस प्रकार की सुविधाएं व व्यवस्थाएं चाहिए उन पर भी विस्तार से कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में निवेश हेतु बहुत बड़े प्रस्ताव राज्य सरकार को मिल रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सभी प्रस्तावों का आंकलन कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो प्रस्ताव राज्य के लिए व्यावहारिक दृष्टि से ठीक होंगे तथा राज्यानुकूल होंगे, ऐंसे प्रस्तावों को प्राथमिकता दी जायेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में रोजगार, आर्थिकी में वृद्धि एवं राज्यानुकूल उद्योगों स्थापित हों तथा उद्योग ठीक प्रकार से चलें। उन्होंने कहा कि सरकार के भरोसे पर उद्यमि अपना उद्योग लगाने में अपनी सम्पूर्ण जमा पूंजी एक बार में लगा देते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य तंत्र की जिम्मेदारी है कि जिसे भी उद्योग लगाने के लिए कह रहे हैं, उनकी ऑनरशिप लेनी पड़ेंगी। उन्होंने कहा कि भविष्य में उद्यमियों के साथ किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो। श्री धामी ने एप्पल मिशन के अन्तर्गत एम-9 फसल तथा एम-111 के किसानों को नफा-नुकसान के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि राज्य तंत्र जिसे भी उद्योग लगाने के लिए कह रहे हैं, उनकी ऑनरशिप लें और अभिभावक के तौर पर काम करें। उन्होंने कहा कि सरकार उद्योगों को प्रोत्साहित कर सकती है, बढ़ावा दे सकती है, संरक्षण व सहायता कर सकती है। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य राज्य में निवेश बढ़ाने के साथ ही राज्य की विशेष पहचान पूरी दुनिया में स्थापित करना है। उन्होंने कहा कि विभिन्न देशों का ध्यान उत्तराखण्ड की तरफ गया है।  उन्होंने कहा कि दिल्ली में वायु प्रदूषण अधिक है, जबकि राज्य में मौसम, वायु सहित सभी परिस्थितियां व्यक्तियों तथा उद्योगो के अनूकूल हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में नदियां, पहाड़ तथा मैदान सभी उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि उद्यमियों के साथ कम्यूनिकेशन स्थापित किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य स्तरीय उद्योग मित्र समूह की बैठक में रखी गई समस्याओं में से 99 प्रतिशत का समाधान किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि राज्य के पारम्परिक क्षेत्रों जैसे पर्यटन, आयुष, वेलनेस, खाद्य प्रसंस्करण, ऑटोमोबाईल्स, वैकल्पिक ऊर्जा और सूचना एवं विज्ञान प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रों को लिबरल, सरल व आसान बना सकते हैं। उन्होंने कि सरकार द्वारा मजबूत नीतिगत ढांचे में निवेशक हितैषी नीतियां बनाने के लिए 27 से अधिक पॉलिसिज को या तो बनाया गया है या नवीनीकृत किया गया है। उन्होंने कहा कि यह हमारा दृढ़ विश्वास है कि निजी क्षेत्र के साथ मजबूत सम्बन्ध बनाने एवं साझेदारी स्थापित करने से ही हम राज्य में आर्थिक प्रगति एवं रोजगार के अवसरों के सृजन की दिशा में और अधिक तेजी से आगे बढ़ सकते हैं, राज्य में उद्योगों के साथ बेहतर सम्बन्ध एवं तालमेल बढ़ाने को सर्वाेच्च प्राथमिकता दी है।

उन्होंने कहा कि पूर्ण विश्वास है कि उत्तराखण्ड राज्य के विकास में आप सभी सहभागी बनेंगे, साथ ही सभी को यह भी विश्वास दिलाया कि उत्तराखंड में अपने उद्योग स्थापित करने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। उद्यमियों ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की प्रशंसा करते हुए कहा कि अधिकारी पहले भी थे, लेकिन आपके विशेष योगदान के कारण उद्यमियों की अधिकांश समस्याओं का समाधान हो गया है और उद्यमियों को आगे बढ़ाने में आपका (सीएम पुष्कर सिंह धामी ) का विशेष योगदान है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सिलक्यारा में फंसे मजदूरों को सकुशल निकालने हेतु किये जा रहे कार्यों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य ने वैश्विक स्तर पर राज्य की पहचान, औद्योगिक निवेश, विभिन्न क्षेत्रों में राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों एवं सुधारों आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में विधायक शिव अरोरा, त्रिलोक सिंह चीमा, राम सिंह कैड़ा, डॉ.मोहन सिंह बिष्ट, मेयर रामपाल सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष नैनीताल बेला तौलिया, पूर्व विधायक राजेश शुक्ला, बीजेपी जिलाध्यक्ष कमल जिन्दल, गुंजन सुखीजा, एससी आयोग के उपाध्यक्ष मुकेश कुमार, अध्यक्ष कृषि उत्पादन एवं मण्डी परिसद डॉ.अनिल कपूर डब्बू, सचिव आर. मीनाक्षी सुन्दरम, मण्डलायुक्त दीपक रावत, जिलाधिकारी यूएसनगर उदयराज सिंह, नैनीताल से वन्दना सिंह, एसएसपी मन्जूनाथ टीसी, मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा, अपर जिलाधिकारी जय भारत सिंह, अशोक कुमार जोशी, भाजपा प्रदेश मंत्री विकास शर्मा आदि उपस्थित थे।

Latest news

Related news

- Advertisement -
Advertisement

You cannot copy content of this page