Advertisement
Advertisement
Monday, December 11, 2023

*अब एक्सरे के लिए बड़े अस्पताल की नहीं लगानी पड़ी दौर, इन अस्पतालों को मिली मशीनें*

देहरादून। प्रदेश के एक दर्जन राजकीय चिकित्सालयों को 300 एमए की एक्सरे मशीनें उपलब्ध करा दी गई है। जिनमें से अल्मोड़ा जनपद के सीएचसी सोमेश्वर, देघाट, जैती, पिथौरागढ़ में सीएचसी गंगोलीहाट, टिहरी में सीएचसी कीर्तिनगर, चम्बा पौड़ी में पीएचसी बूंगीधार, चाकीसैंण, सीएचसी सतपुली, हरिद्वार में सीएचसी बहादराबाद देहरादून में सहसपुर व रूद्रप्रयाग में अगस्त्यमुनि अस्पताल शामिल है।

इन चिकित्सालयों में एक्सरे मशीनें स्थापित होने से अब मरीजों को एक्सरे के लिए बड़े अस्पतालों की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत ने अपने राजस्थान प्रवास के दौरान मीडिया को जारी एक बयान में बताया कि प्रदेश के स्वास्थ्य केंद्रों को आधुनिक मशीनों से लैस किया जा रहा है। इसी क्रम में एक दर्जन अस्पतालों में एक्सरे मशीनें उपलब्ध करा दी है जिससे अब जरूरतमंदों को एक्सरे के लिए जिला अस्पताल व मेडिकल कॉलेजों की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। इन अस्पतालों में आने वाले मरीजों को वहीं पर एक्सरे की सुविधा उपलब्ध रहेगी। जिससे एक ओर जहां मरीजों को रियायती दरों पर एक्सरे सुविधा मिलेगी वहीं लोगों के समय की भी बचत होगी।

विभागीय मंत्री डॉ०रावत ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में जो एक्सरे मशीने स्थापित की गई है वे आधुनिक तकनीकी से लैस है। इन मशीनों से मरीजों के एक्सरे बिना किसी देरी के उपलब्ध करायें जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि दुर्गम क्षेत्रों एवं चारधाम यात्रा के दृष्टिगत ये मशीनें हड्डी एवं अन्य सम्बन्धित बीमारियों की जांच में कारगर सिद्ध होगी और आम जनमानस को तत्काल चिकित्सा सुविधा का लाभ मिलेगा। डॉ.रावत ने बताया कि इसके अलावा उप-जिला चिकित्सालय ऋषिकेश और जिला अस्पताल चम्पावत में सीएसआर योजना के तहत सीटी स्कैन मशीन स्थापित किये जाने की योजना है। उन्होंने कहा शीघ्र ही यहां पर सिटी स्कैन मशीनें स्थापित की जाएंगी। जिससे यहां आने वाले मरीजों को सीटी स्कैन की सुविधा मिलेगी और स्थानीय लोगों को अति गंभीर बीमारियों की जांच में लाभ मिलेगा।

Latest news

Related news

- Advertisement -
Advertisement

You cannot copy content of this page